OMG: अमेरिका के दो राष्ट्रपतियों के बीच के 7 बेहद अजीबोगरीब इत्तेफाक!

334

OMG: अमेरिका के दो राष्ट्रपतियों के बीच के 7 बेहद अजीबोगरीब इत्तेफाक!

रोजमर्रा की जिंदगी में हम सबके साथ छोटे-मोटे इत्तेफ़ाक घटते रहते है। हम कुछ देर के लिए उसपर चौंकते है, लेकिन फिर अपने-अपने काम में मस्त हो जाते है। किंतु कई बार इन छोटे-मोटे इत्तेफ़ाको के बीच कुछ ऐसे किस्सों के बारे में भी देखने-सुनने को मिल जाता है। जो हुए भले इत्तेफाकन हो। लेकिन अपनी जटिलता के चलते एक पहेली बन जाते है।

आज हम जानेंगे अमेरिका के उन दो भूतपूर्व राष्ट्रपतियों के बारे में जिनके जीवन मे इत्तेफाकन इतनी समानताएं है कि ऐसा प्रतीत होता है वो दोनों दो नही बल्कि एक ही हो। बस जीवनकाल का समय अलग-अलग है। तो चलिए आपको लिए चलते है अमेरिका के भूतपूर्व राष्ट्रपति कैनेडी और लिंकन के जीवन के बीच इत्तेफाकन बनी समानताओं की दुनिया में।

1) लिंकन जहा 1846 में अमेरिकी संसद से जुड़े। वही कैनेडी ने इसके ठीक 100 साल बाद अमेरिकी संसद में प्रवेश किया।

2) लिंकन ने 1860 में अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव जीत और 1861 में कार्यभार संभाला। वहीं कैनेडी ने भी इसके ठीक एक सदी बाद 1960 में राष्ट्रपति के चुनावों में जीत हासिल कर 1961 में राष्ट्रपति का कार्यभाल संभालने की शुरुआत की।

3) तीसरा इत्तेफ़ाक यह कि लिंकन और कैनेडी दोनों का ही मूलतः दक्षिण अमेरिका से संबंध रखते थे।

4) लिंकन और कैनेडी इन दोनों में बाकी समानता के साथ-साथ दोनों  के उत्तराधिकारियों के सरनेम भी एक थे। लिंकन के उत्तराधिकारी का नाम एंड्रयू जॉनसन था जबकि कैनेडी का उत्तराधिकारी लिंडन जॉनसन था।

5) लिंकन और कैनेडी दोनों की हत्या हुई थी। यह भी एक इत्तेफ़ाक जरूर है। लेकिन बड़ा इत्तेफाक यह है कि लिंकन के हत्यारे का जन्म 1839 में और कैनेडी के हत्यारे का जन्म 1939 में हुआ था।

6) मौत के मामले में भी दोनों के हालात एक जैसे ही रहे। दोनों को ही सर के पीछे से मारी गई थीं। इसके अलावा इत्तेफाकन दोनों की पत्नियां भी हमले के वक्त उनके साथ मौजूद थी।

7) इत्तेफ़ाको की लिस्ट का आखिरी इत्तेफाक भी इत्तेफाकन काफी मजेदार है। लिंकन के सेक्रेटरी का नाम कैनेडी था तो कैनेडी के सेक्रेटरी का नाम लिंकन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here