वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप:16 साल के ह्रदय हजारिका और महिला टीम ने दिलाया गोल्ड

115
मेरे देश की धरती ही नही तो अब इस धरती के 16 साल के लाल भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खेलों में सोना उगल रहे है। जी हां, भारत का सीना गर्व से सोना कर देने का काम किया है 16 वर्षीय हृदय हजारिका ने। भारत के इस लाल ने वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप में कमाल करते हुए 10 मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक अपने नाम करने का ऐतिहासिक कारनामा कर दिखाया है। 
ह्रदय हजारिका चांगवोन में चल रहे आईएसएसएफ विश्व कप में जूनियर 10 मीटर एयर राइफल के फाइनल मुकाबले के लिए भारत की तरफ से क्वालीफाई करने वाले अकेले खिलाड़ी रहे। इसके बावजूद हृदय हजारिका ने ऐसा निशाना साधा की भारत की झोली में स्वर्ण पदक आ गया। 627.3 अंकों के साथ प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश करने वाले हृदय हजारिका को खिताबी मुकाबले में ईरान के मोहम्मद आमिर नेकुनाम से कड़ी टक्कर मिली। फाइनल मुकाबले में दोनों ही खिलाड़ियों ने 250.1 अंक स्कोर किया। इसके बाद फैसले के लिए शूट ऑफ मुकाबला हुआ जिसमें ह्रदय हजारिका ने अपने प्रदर्शन से भारतीयों का हृदय जीत लिया।
जहां हृदय हजारिका को गोल्ड मेडल मिला, वही ईरान के मोहम्मद आमिर को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। जबकि इस प्रतियोगिता में तीसरे स्थान पर रहे रूस के ग्रिगोरी शामाकोव को कांस्य पदक मिला। वैसे हजारिका द्वारा गोल्ड मेडल मिलने से पहले देश की बेटियों ने भी भारत की झोली में एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाते हुए गोल्ड मेडल डाल दिया।भारतीय महिला टीम में शामिल इलावेनिल वालारिवान (631), श्रेया अग्रवाल (628.5) और मानिनी कौशिक (621.5) के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत 10 मीटर एयर राइफल टीम ने 1880.7 के स्कोर के साथ न सिर्फ गोल्ड मेडल अपने नाम किया बल्कि एक नया विश्व रिकार्ड भी बनाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here