मुंबई के नालासोपारा में सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत के घर से मिला मौत का सामान

556

मुंबई के नालासोपारा में सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत के घर से मिला मौत का सामान

अपने टैलेंट के खदान के लिए पहचाने जाने वाला मुंबई स्थित नालासोपारा इलाका इस बार गलत कारणों की वजह से चर्चा में आया है। कल देर रात नालासोपारा में सनातन संस्था से जुड़े एक व्यक्ति के घर और दुकान से बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया गया है। ATS के अधिकारियों को छापेमारी में सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत के घर के 8 देशी बम मिले। इतना ही नही तो एटीएस के अधिकारियों को वैभव राउत के घर से थोड़ी दूर स्थित उसके दुकान पर छापेमारी के दौरान बम बनाने की सामग्री भी प्राप्त हुई।



एटीएस ने बताया कि वह कई दिनों से वैभव राउत की संदिग्ध गतिविधियों पर नजर बनाए हुए थी। और जब अधिकारियों का शक वैभव पर एकदम गहरा गया तो उन्होंने कल रात यानी गुरुवार को उसके घर और दुकान दोनों जगह धावा बोल दिया। सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत के घर और दुकान से एटीएस अधिकारियों को बड़ी मात्रा में गन पाउडर यानी सल्फर और कुछ डेटोनेटर प्राप्त हुआ। राउत के दुकान से बरामद गन पाउडर से आराम से 2 दर्जन बम बनाए जा सकते है। इसके अलावा 8 देशी बम भी बरामद किया गया।

इस पूरे प्रकरण में सनातन संस्था से जुड़े मुख्य आरोपी वैभव राउत के बचाव में उसके वकील संजीव पुनालेकर का कहना है कि एटीएस ने उसके मुवक्किल को बिना किसी जानकारी के गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा अपने मुवक्किल पर की इस कार्रवाई से नाराज वकील संजीव ने एटीएस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि पता नही देश और महाराष्ट्र में किस तरह के कानून का पालन किया जा रहा हैं। संजीव ने अपने मुवक्किल संजय के बचाव में कानूनी कार्रवाई करने की भी बात कही। बता दें कि सनातन संस्था का नाम नरेंद्र दाभोलकर, एमएम कलबुर्गी, गोविंद पानसरे और गौरी लंकेश की हत्या से भी जुड़ चुका है। इससे जुड़े लोगों को 2007 में वाशी, ठाणे, पनवेल और 2009 में गोवा में हुए धमाकों के मामले में भी गिरफ्तार किया था।  सनातन संस्था की स्थापना 1999 में जयंत बालाजी अठावले ने की थी। इसके विदेश में भी आश्रम हैं। यह संस्था अध्यात्म, शिक्षा और धर्म के क्षेत्र में काम करती है। सनातन संस्थान के कार्यकर्ताओं पर पहले भी आरोप लगे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here