ओवल टेस्ट Day-2: दूसरे दिन भारतीय गेंदबाजों और बल्लेबाजों दोनों ने ही किया निराश

71
भारत और इंग्लैंड के बीच केनिंगटन ओवल मैदान पर खेले जा रहे 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के आखिरी मैच के दूसरे दिन के खेल ने मैच में भारत की  स्थिति दयनीय कर दी है। जहां पहले दिन के आखिरी सेशन में 6 विकेट झटक कर भारत ने इंग्लैंड को बैकफूट पर धकेल दिया था। वहीं खेल के दुसरे दिन पासा ऐसा पलटा कि भारतीय टीम बैकफूट पर चली गई। इंग्लिश टीम ने जब दुसरे दिन खेलने शुरू किया तो ज्यादातर का यही अनुमान था कि 198/7 के स्कोर को ज्यादा से ज्यादा 250 तक पहुंचाकर इंग्लैंड की पहली पारी समाप्त हो जाएगी। लेकिन ऐसा हुआ नही और इंग्लैंड ने दुसरे दिन आखिरी तीन विकेट के दम पर 134 रन जोड़ टीम के स्कोर को 332 पर पहुंचा दिया। मुसीबत  इतनी भर होती तो भी क्या कम था! लेकिन भारत के लिए असली परेशानी तब बढ़ गई जब दुसरे दिन का खेल खत्म होने तक सिर्फ 174 रन पर ही 6 भारतीय बल्लेबाज पवेलियन लौट गए।
जब दुसरे दिन का खेल शुरू हुआ तब भारतीय टीम को दिन का पहला विकेट बुमराह ने आदिल रशीद को पगबाधा आउट करके जल्दी ही दिला दिया। लेकिन इसके बाद बटलर और ब्रॉड के बीच 9वें विकेट के लिए 98 रनों की ऐसी तगड़ी साझेदारी हुई जिसने मैच का नक्शा ही बदलकर रख दिया। इसी साझेदारी की बदौलत मुश्किल से 250 तक पहुंचती दिख रही इंग्लिश टीम 300 के स्कोर को लाँघ पाने में सफल हो गई। भारत का काफी हद तक खेल ख़राब कर चुकी इस जोड़ी को तोड़ने का काम किया रवीन्द्र जड़ेजा ने।  जड़ेजा ने 38 रन बनाकर खेल रहे ब्रॉड को लोकेश राहुल के हाथों कैच आउट करवाकर भारत को बहुत बड़ी राहत दिलाई। ब्रॉड के रूप में अपना 9वां विकेट गंवाने के बाद 10वें विकेट के लिए इंग्लैंड सिर्फ 10 रन ही जोड़ पाई और अपना आखिरी विकेट बटलर के रूप में गंवा दिया। बाकी बटलर ने आउट होने से पहले सिर्फ 133 गेंदों में 89 रन की पारी खेलकर इंग्लैंड की मैच में वापसी करा दी।
दुसरे दिन इंग्लैंड की पारी को निपटाने के बाद इंग्लिश बल्लेबाजों से निपटने के लिए मैदान पर उतरे भारतीय बल्लेबाज एक बार फिर इंग्लिश गेंदबाजो के आगे जूझते नजर आए। भारतीय टीम को पारी के दुसरे ही ओवर की पहली गेंद पर शिखर धवन(3 रन) के रूप में मात्र 6 रन के स्कोर पर पहला झटका लग गया। हालांकि, दुसरे विकेट के लिए लोकेश राहुल और पुजारा के बीच हुई 64 रनों की साझेदारी ने भारत को शुरूआती झटके से जल्द उबार भी दिया। लेकिन जब लोकेश राहुल(37) का विकेट गिरा, उसके बाद से नियमित अंतराल पर भारत को झटके लगते रहे। 70 रन पर दो विकेट गंवाने के बाद तीसरे विकेट के लिए पुजारा और कप्तान कोहली के बीच में एक साझेदारी तो पनपी लेकिन अभी इस साझेदारी ने मिलकर टीम के स्कोर में 31 रन ही जोड़े थे कि पुजारा 37 रन बनाकर एंडरसन की गेंद पर कैच आउट हो गए। भारत अभी तीसरे झटके को समझता और संभलता इससे पहले ही एंडरसन नेअजिंक्य रहाणे को खता खोले दिए बगैर चलता कर दिया।
एक समय 70 रन पर सिर्फ एक विकेट गंवाकर खेल रही टीम इंडिया ने 103 रन तक पहुँचते-पहुँचते अपने चार विकेट गंवा दिए। 103/4 के स्कोर के बाद पैदा हुए संकट को हरने की छोटी-सी कोशिश कप्तान कोहली और हनुमा ने साझा रूप से की। दोनों ने 5वें विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी कर टीम के स्कोर को किसी तरह 150 के पार पहुंचाया। हालांकि, इसके तुरंत बाद कोहली 49 रन बनाकर बेन स्टोक्स का शिकार हो गए। कोहली के आउट होने के बाद मैदान पर आए ऋषभ पंत इस बार भी कोई कमाल नही दिखा पाए और सिर्फ 8 गेंदों का सामना करते हुए 5 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। गनीमत रही कि इसके बाद भारत ने दुसरे दिन कोई दूसरा विकेट नही खोया। यह अलग बात है कि इससे पहले ही भारत बहुत कुछ खो चुका था। दुसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 174/6 बना लिए है और इस हिसाब से भारत अब भी इंग्लैंड से 158 रन पीछे हैं। ऐसे में तीसरे दिन यह देखना दिलचस्प होगा कि भारत अपने 4 बचे हुए विकेट के दम पर इस फासले को कितना कम  कर पाती हैं।
~ रोशन ‘सास्तिक’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here