ओवल टेस्ट Day-1: आखिरी सेशन में इंग्लैंड पर टूटा आसमान, दिन का खेल खत्म होने पर बनाए 198/7

138
भारत और इंग्लैंड के बीच केनिंगटन ओवल मैदान पर खेले जा रहे 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के आखिरी मैच के पहले दिन भारतीय गेंदबाजों ने इंग्लिश बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी। पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लिश टीम ने शुरुआत तो बहुत तगड़ी की थी, लेकिन मैच के आखिरी सेशन में भारतीय गेंदबाजों ने तगड़ा कमबैक करते हुए इंग्लिश टीम को अर्श से सीधे फर्श पर पटक दिया। एक समय इंग्लिश टीम सिर्फ एक विकेट गंवाकर 133 रन बनाकर खेल रही थी।लेकिन, इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने ऐसा कहर बरपाया कि दिन का खेल खत्म होने तक सिर्फ 198 रन पर इंग्लैंड के 7 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए।
पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लिश टीम के सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 60 रनों की साझेदारी कर इंग्लैंड को ठोस शुरुआत दी। भारत के लिए दिक्कत खड़ी कर रही इस जोड़ी को रविंद्र ड़ेजा ने 23 रन बनाकर खेल रहे जेंनिंग को राहुल के हाथों कैच आउट कराकर तोड़ने में सफलता पाई। पहले विकेट के पतन के बाद मैदान पर उतरे मोइन अली बड़े जतन से कुक का साथ निभाते हुए पारी को दोबारा सँवारने में जुट गए। दोनों के बीच दूसरे विकेट के लिए 73 रनों की उम्दा पार्टरनशिप हुई। भारत के लिए परेशानियों का पहाड़ खड़ा करते इस जोड़ी को बुमराह ने कुक को क्लीन बोल्ड करके ध्वस्त कर दिया। अपना आखिरी टेस्ट मैच खेल रहे कुक ने आउट होने से पहले 71 रनों की शानदार पारी खेली।
भारत अभी कुक जैसे बल्लेबाज के आउट होने का जश्न ठीक से मानता कि इससे पहले उसी ओवर में बुमराह ने कप्तान जो रुट को पगबाधा आउट कर पवेलियन भेज दिया। इंग्लिश कप्तान अपना खाता तक नही खोल पाए। एक ही ओवर में मिली दो बड़ी सफलताओं ने मैच का सूरत-ए-हाल ही बदल दिया। हालांकि, यह तो आगाज भर था, क्योंकि इसके बाद इंग्लिश बल्लेबाज नियमित अंतराल पर भारतीय गेंदबाजों के आगे घुटने टेकते चले गए। जहां बुमराह ने जो रुट को शून्य पर आउट कर दिया वहीं इशांत ने भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराते हुए बैरस्ट्रोव को बिना खाता खोले मैदान से लौटने पर विवश कर दिया।
63.1 ओवर में 133/1 का स्कोर बोर्ड सिर्फ 10 गेंदों बाद 64.4 ओवर में बदलकर 134/4 हो गया। ऐसे समय में इंग्लिश टीम को एक ऐसी साझेदारी की अदद जरूरत थी, जो टीम के स्कोर को 200 के पार लेकर का सके। पहला विकेट गिरने के बाद मैदान पर उतरे मोइन अली ने स्टोक्स के साथ मिलकर इस काम को अंजाम देने का प्रयास किया। लेकिन अभी दोनों ने मिलकर पांचवे विकेट के लिए टीम के स्कोर में 37 रन ही जोड़े थे कि रविंद्र जड़ेजा की फिरकी से चकमा खाकर स्टोक्स पगबाधा आउट हो गए। इधर स्टोक्स आउट हुए और उधर कुछ समय बाद अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद मोइन अली भी इशांत शर्मा की गेंद पर अपना बहुमूल्य विकेट ऋषभ पंत को थमा बैठें।
दिन का आखिरी विकेट भारत के लिए इस सीरीज में अब तक सबसे बड़े सिरदर्द रहे सैम कुरेन के रूप में आया। अपनी पारियों से इंग्लिश टीम को मुश्किलों से उबारने वाले और भारत को मुश्किल में डालने वाले सैम कुरेन को इशांत शर्मा ने इस बार खाता तक खोलने का मौका नही दिया और ऋषभ पंत के हाथों आउट करवाकर पवेलियन भेज दिया। इस तरह एक समय 133/1 के स्कोर पर खेल रही इंग्लैंड की टीम आखिरी सेशन में 6 विकेट गंवाकर दिन का खेल खत्म होने तक 198/7 के स्कोर पर पहुंच गई। इंग्लैंड के इस हश्र में इशांत शर्मा, बुमराह और जड़ेजा की तिकड़ी का योगदान रहा। इशांत शर्मा ने जहां 3 विकेट झटके, वहीं बुमराह और जडेजा की गेंदों पर 2-2 इंग्लिश बल्लेबाजों ने पवेलियन की राह पकड़ी।
~ रोशन ‘सास्तिक’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here