इंग्लैंड ने जीत के लिए दिया 464 रनों का लक्ष्य, भारत ने 58 रन पर गंवाए 3 विकेट

79
भारत और इंग्लैंड के बीच ओवल मैदान पर खेले जा रहे पांचवे टेस्ट मैच के पांचवें दिन भारत की हार अब लगभग तय हो चुकी है। पांचवें दिन का खेल शुरू होने से पहले ही हम भारत की हार का अनुमान इसलिए लगा रहें है क्योंकि भारतीय बल्लेबाजों ने जिस तरह का खेल पहले चार दिन के दौरान दिखाया है, उसे देखते हुए इस बात की उम्मीद करना बिल्कुल बेईमानी होगी कि खेल के पांचवे दिन भारतीय बल्लेबाज कोई अजूबा कर देंगे। इसलिए हार तो लगभग तय ही है, बस देखना है कि इस हार को भारतीय बल्लेबाज कितनी देर तक टाल पाते है।
पांच टेस्ट मैच की सीरीज के आखिरी मैच का अब तक का सुरत-ए-हाल यह है कि जहां इंग्लैंड ने अपनी दोनों पारियों में क्रमशः 332/10 और 423/8 बनाए। वहीं भारत ने पहली 292 रन पर सिमट गई और दूसरी पारी में 58 रन पर ही तीन विकेट गंवा दिए। इंग्लैंड द्वारा जीत के लिए दिए गए 464 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। सिर्फ 2 रन स्कोर बोर्ड पर टांगने तक ही भारत के तीन बल्लेबाज पवेलियन लौट गए। पहला विकेट शिखर धवन के रूप में गिरा, दूसरा विकेट पुजारा का गया और तीसरे विकेट के रूप में कप्तान कोहली पहली ही गेंद पर अपना विकेट गंवा बैठें।

इससे पहले चौथे दिन इंग्लिश बल्लेबाजों ने अपनी शानदार बल्लेबाजी जारी रखी। अपना आखिरी टेस्ट मैच खेल रहे एलिस्टर कूक और कप्तान जो रुट के बीच तीसरे विकेट के लिए 259 रनों की अद्भुत साझेदारी हुई। एक वक्त जब यह लगने लगा कि इस साझेदारी को तोड़ना अब भारतीय गेंदबाजों के बूते की बात नही रह गई, तब हनुमा विहारी ने अपने एक ही ओवर में इन दोनों हीं बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। आउट होने से पहले जो रुट ने जहां 125 रन बनाए, वहीं एलिस्टर कूक के बल्ले से 147 रनों की बेजोड़ पारी निकली। हनुमा विहारी ने इन दोनों को आउट तो कर दिया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

तीसरे दिन का खेल खत्म होने से पहले इंग्लैंड की टीम ने 423/8 पर अपनी दूसरी पारी घोषित कर दी और पहली पारी में मिली 40 रनों की  बढ़त के चलते भारत को चौथे पारी में जीत के लिए 464 रनों का लगभग नामुमकिन-सा लक्ष्य मिला। जिसका पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने सिर्फ दो रन बनाकर ही अपने तीन विकेट गंवा दिए। हालांकि, इसके बाद भारत ने चौथे दिन और कोई विकेट नही गंवाया। लोकेश राहुल और अजिंक्य रहाणे के बीच हुई 56 रन की साझेदारी की बदौलत भारतीय टीम ने दिन का खेल खत्म होने तक 58/3 बना लिए। अब मैच के पांचवे दिन जीत के लिए भारत को जहां 406 रनों की जरूरत है, वहीं इंग्लैंड टीम को जीत के लिए सिर्फ सात विकेट चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here